शुक्रवार, 12 जनवरी 2018

आपकी अदालत में कुमार विश्वास

आप की अदालत में कुमार विश्वास -
बहुत दिनों बाद यू ट्यूब पर 'आप की अदालत' में कुमार विश्वास का एपिसोड देखा. कुमार विश्वास की हाज़िर जवाबी, उनका सेन्स ऑफ़ ह्यूमर और उनकी काव्य-प्रतिभा हमको बहुत प्रभावित करती है. किन्तु खुद को वर्तमान का अथवा भविष्य का दिनकर बनाने का उनका सपना पूरा होना बहुत मुश्किल है. महाकवि की श्रेणी में पहुँचने के लिए उनको दो-चार जन्म अभी और लेने होंगे.
राजनीति के क्षेत्र में कुमार विश्वास जब भी कोई पटखनी खाते हैं तो उनका कवि-रूप मुखर हो जाता है. इसलिए कुमार विश्वास के कवि-रूप के हम सब प्रशंसक दिल से यही चाहते हैं कि वो राजनीति के अखाड़े में बार-बार पटखनी खाएं और फिर कुंठा, अवसाद से भरी सुन्दर कविताओं की रचना कर, उन्हें हमको बार-बार सुनाएँ.
राजनीति के क्षेत्र में बार-बार धोबी-पछाड़ खाते और कभी भी अपनी मंजिल तक न पहुँच पाने वाले कुमार विश्वास को देखकर हमको पौराणिक पात्र त्रिशंकु की याद आ जाती है.
कुमार विश्वास की सबसे प्रसिद्द कविता 'कोई दीवाना कहता है' की ही बहर पर उनकी घुटन, उनकी चुभन, उनकी खीझ, उनके दिली जज़्बात पेशे-ख़िदमत हैं -
मैं प्यासा था, मैं प्यासा हूँ, मुझे प्यासा ही रहना है,
न कल घर था, न अब घर है, मुझे बेघर ही रहना है.
त्रिशंकु की कहानी को, अधर में, देखिए फिर से,
मैं लटका था, मैं लटका हूँ, मुझे लटका ही रहना है.

8 टिप्‍पणियां:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, स्वामी विवेकानन्द जी की १५५ वीं जयंती - ब्लॉग बुलेटिन “ , मे आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. 'ब्लॉग बुलेटिन' में मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद. 'ब्लॉग बुलेटिन' से जुड़कर मुझे हमेशा ही ख़ुशी मिलती है.

      हटाएं
    2. खुश रहिये। मगर ब्लॉग बुलेटिन पर जाकर कम से कम एक आभार प्रकट कर के आईये ।

      हटाएं
    3. 'ब्लॉग बुलेटिन' को अपना आभार प्रकट करना मैं कैसे भूल सकता हूँ? मैंने पूरा अंक पढ़ा भी है.

      हटाएं
  2. आप भी तो कुमार हैं । बहुत अच्छा लिखते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. हम तो 'मोहन' हैं और हम इस 100 वाट के एलईडी बल्ब 'कुमार' के सामने टॉर्च वाले बल्ब हैं.

      हटाएं
  3. उत्तर
    1. धन्यवाद राही जी.इस बुढ़ापे में भी मैं शरारत करने से बाज़ नहीं आता. और इसकी ख़ास वजह आप लोग हैं जो कि मेरी हर खुराफ़ात पसंद करते हैं.

      हटाएं